जयपुर 14 मार्च । बांग्लादेश और पाकिस्तान में हिन्दुओ पर हो रहे अत्याचार के विरोध में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में प्रस्ताव लाया जाएगा। जयपुर के केशव विद्यापीठ जामड़ोली में चल रही बैठक में इस विषय पर चर्चा के बाद रूप रेखा बन चुकी है। यह जानकारी संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डॉ.मनमोहन वैद्य ने गुरूवार को संवाददाताओं को दी।

Press Briefing By Man Manmohan ji vaidhay 3

उन्होंने बताया कि बांग्लादेश में हिन्दुओं की स्थिति बहुत दयनीय हो चुकी है उनके अस्सी मंदिरों और आठ सौ घरों को उपद्रवियों द्वारा निशाना बनाया जा चुका है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में भी हिन्दुओं पर अत्याचार बढने के कारण वहां से उनका पलायन हो रहा है। पाक विस्थापित हिन्दू मजबूरी में शरणार्थियों का जीवन जीने को मजबूर है। अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में रामसेतु, गंगा, यमुना में बढ़ रहे प्रदूषण सहित कई महत्वपूर्ण विषयों पर भी चर्चा हो सकती है। डॉ. वैद्य ने देश में हो रहे मतांतरण पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि अज्ञानता और गरीबी और समाज की मजबूरी का फायदा उठाकर मंतारण करना गलत है। लेकिन उपासना पद्धति, पंथ अपनी इच्छा से बदलता है तो भारत में इसका विरोध नही रहा है।

Press Briefing By Man Manmohan ji vaidhay

डॉ. वैद्य ने बताया कि संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा संघ की सर्वोच्च समिति है जो संघ के

बारे में नीति निर्धारण कर निर्णय करती है। इसमें संघ के 41 प्रांतो के प्रांत प्रचारक, प्रांत संघचालक, प्रांत कार्यवाह, प्रमुख पदाधिकारी, विभाग प्रचारक और संघ के विविध संगठनों के प्रमुख पदाधिकारियों के अलावा पूरे देश से निर्वाचित 425 प्रतिनिधि शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि आज अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की बैठक हुई इसमें करीब 350 प्रतिनिधियों से भाग लिया। इसमें देशभर में संघ और विविध संगठनों के कार्यक्रमों का वृत्त प्रांत प्रतिनिधियों द्वारा रखा जाएगा। वहीं आगामी कार्यक्रम और प्रवास की योजना पर भी चर्चा हुई। ग्रीष्मावकाश के समय देशभर में चलने वाले संघ प्रशिक्षण वर्गो के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि देश में ऐसे 70 वर्ग आयोजित होंगे। हिन्दु/भगवा आतंकवाद पर केन्द्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे के बयान पर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि उनका बयान राजनीति से प्रेरित था।