Ajmer: VHP Chief Dr Togadia addressed a mammoth gathering, says 'Ram Mandir a reality soon'

Ajmer, Rajasthan: He was arrested in 2003 by the then state government for Trishul Distribution controversy here is Ajmer, now after 10 year there was a massive welcome for Dr Pravin Togadia, International Chief of Vishwa Hindu Parishad.

Dr Pravin Togadia received an unprecedented welcome at Ajmer
Dr Pravin Togadia received an unprecedented welcome at Ajmer

Dr Togadia addressed a mammoth gathering at Ajmer last night, spoke on various issues of national concerns including the construction of Ram Mandir at Ayodhya.

Detailed report in Hindi, is given below.

4266_39

अजमेर। विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. प्रवीण तोगडिया ने अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनाने और देश में हिन्दू राज की स्थापना के लिए संगठित होकर संघर्ष का आह्वान किया है। 35 अरब राम नाम परिक्रमा समिति और विहिप की ओर से रविवार रात सुभाष उद्यान में आयोजित संत समागम में डॉ.तोगडिया ने हिन्दुओं को हिन्दू होने पर गर्व करने, संगठित रहने, देश में हिन्दू राज की स्थापना और विश्व में कहीं भी हिन्दू पर अत्याचार होने पर चुप नहीं रहने का संकल्प भी दिलाया।

35 अरब राम नाम परिक्रमा के समापन समारोह पर आयोजित धर्म समागम को सम्बोधित करते हुए डॉ. तोगडिया ने कहा कि देश के बहुसंख्यक समाज को भी आर्थिक समृद्घि, शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य और सुरक्षा का अधिकार है। यह अधिकार तब ही मिल सकता है जब देश का 100 करोड़ बहुसंख्यक समाज एकजुट होगा।

4275_38

“मोदी राष्ट्र को प्रिय”
राम स्नेही समाज के जगद्गुरू और विहिप केन्द्रीय मार्गदर्शक मंडल के

सदस्य श्रीराम महाराज ने कहा कि जिस प्रकार लड्डू भगवान गणेश को प्रिय है उसी प्रकार गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी राष्ट्र को प्रिय हैं।

संत समागम में श्रीराम महाराज ने कहा कि जो देश को गौ हत्या से मुक्त कराए, कन्या की रक्षा करे, देश को आतंकवाद से बचाए और भारत को यर्थाथ के अनुसार संस्कृति का देश बनाने का वादा करे उसे तो सारा संत समाज अपना आशीर्वाद देगा।
निर्मल आश्रम पुष्कर के पाठक महाराज ने कहा कि देश की सत्ता पर मोदी आकर विराजेगा उसके बाद सारा असमंजस दूर होगा। कार्यक्रम को निरंजन नाथ महाराज, केशवानंद महाराज और गोपासदास महाराज ने भी सम्बोधित किया।

पहले त्रिशूल, अब तलवार
डॉ.तोगडिया ने अप्रेल 2003 में सुभाष उद्यान में त्रिशूल लहराकर त्रिशूल दीक्षा दिलाई थी। तब उन्हें गिरफ्तार किया गया था। वहीं रविवार रात विहिप के कार्यकर्ताओं की ओर से भेंट की गई तलवार लहराई।

4268_40

आयु घटाने की निंदा
समागम में आए संतों ने शारीरिक संबंध बनाने की उम्र घटाकर 16 करने की निंदा की। संत निरंजन नाथ महाराज, पाठक महाराज, गोपालदास महाराज और केशवदास महाराज ने कहा कि सत्ता में बैठे बुद्धिहीन लोगों ने बिना संतों की राय और वेदों का अध्ययन किए ऎसा निर्णय किया है जिसके दुष्परिणाम सामने आएंगे।

सरकार ने शपथ पत्र दिया मगर मंदिर नहीं सौंपा
डॉ.तोगडिय़ा ने कहा कि सरकार ने शपथ पत्र देने के बावजूद हिन्दुओं को मंदिर नहीं सांैपा। उन्होंने मंदिर निर्माण में बाधा पहुंचाने पर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी।

महाकुंभ में आयोजित धर्म संसद में भी निर्णय हो चुका है कि अयोध्या में भगवान राम का भव्य मंदिर बनाया जाएगा। इसके लिए उन्होंने बताया कि देश भर में 11 अप्रैल से 13 मई तक विजय महामंत्र अनुष्ठान का आयोजन किया जाएगा।

जेहादियों की वकालत क्यों ?
डॉ.तोगडिय़ा ने आरोप लगाया कि देश में मुस्लिम बोट बैंक की खातिर सरकार जेहादियों का समर्थन कर रही है। संसद पर हमला करने वालों की सरकार पैरवी करती रही। कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला सीआरपीएफ से हथियार नहीं रखने का लिखित आदेश देते हैं। इसके बाद जवानों पर आत्मघाती हमला हो जाता है। जेहादियों का विरोध आवश्यक है, तभी आर्थिक विकास होगा।

महाआरती के साथ समापन
श्रीराम नाम धन संग्रह बैंक और 35 अरब राम नाम धन संग्रह परिक्रमा समिति की ओर से 9 से 17 मार्च तक आयोजित राम नाम परिक्रमा कार्यक्रम का समापन रविवार शाम को महाआरती के साथ हुआ।

Vishwa Samvada Kendra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Are you Human? Enter the value below *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

Golwakar Jayanti: Blood Donation Camp organised by RSS Swayamsevaks at Bangalore

Mon Mar 18 , 2013
Bangalore: Govindaraja Nagar unit of RSS along with Yadava Seva Pratishtan and Rashtrotthana Blood Bank, organised Blood donation Camp on Sunday, March 17. The blood donation camp was held as part of 107th Birth year of  Second Sarasanghachalak of RSS Guruji Golwalkar and 150th Birth Year of Swami Vivekananda. The […]