Official Press by VHP Vishwa Hindu Parishad

Combining Temples with Toilets is improper & Imprudent – – VHP Vishwa Hindu Parishad

New Delhi, October 4, 2013

VHP Vishwa Hindu Parishad feels that combining Temples with toilets was unnecessary while mentioning the importance of toilets. As we have already said, all are working towards better health & hygiene of Bharat. VHP Vishwa Hindu Parishad runs hundreds of Health Projects under its Sewa Department. However, referring to Temples as a lower choice than toilets was unnecessary as well as improper & VHP Vishwa Hindu Parishad is sad & shocked by this. Such uncalled for remarks combining toilets & temples hurt Hindu faith.

Press Officially Issued by:

1.    Shri Raghav ji Reddy – International President, VHP

2.    Dr Pravin Togadia – International Working President, VHP

3.    Shri Ashok ji Chowgule – Working President – External – VHP

4.    Shri Champat Rai ji – International Secretary General – VHP

vhp

अधिकृत प्रेस विज्ञप्ति : विश्व हिन्दू परिषद् 

मंदिरों के सन्दर्भ में शौचालय का उल्लेख विकल्प के नाते करना अनावश्यक एवं अनुचित – विश्व हिन्दू परिषद् 

नयी दिल्ली, ४ अक्तूबर, २ ० १ ३

विश्व हिन्दू परिषद् का यह मत है कि शौचालय के विषय में बोलते हुए उसमें मंदिरों को लाना अनावश्यक एवं अनुचित था। इससे विश्व हिन्दू परिषद्  आहत, दुखी एवं हैरान है। भारत के उत्तम आरोग्य के हेतु सभी कार्यरत है; विश्व हिन्दू परिषद् के आरोग्य के अनेक सेवा प्रकल्प भारत के सैकड़ों स्थानों पर चल रहे हैं। किंतु देवालय यह शौचालय की तुलना में कम स्तर का विकल्प कहना अनावश्यक और अनुचित था जिससे हिन्दू धर्म की मंदिरों के प्रति दृढ़ आस्था का अनादर हुआ है।

__________

विश्व हिन्दू परिषद् के लिए: 

 १) श्री राघव जी रेड्डी – आंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष – विश्व हिन्दू परिषद्

२ ) डॉ प्रवीण तोगड़िया जी – आंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष – विश्व हिन्दू परिषद् 

३) श्री अशोकराव जी चौगुले – कार्याध्यक्ष  – विश्व विभाग 

४ ) श्री चम्पत राय जी – आंतरराष्ट्रीय महामंत्री, विश्व हिन्दू परिषद्