विश्व हिन्दू परिषद् और इंडिया हेल्थ लाईन ने सोलंकी के 
गिरफ्तारी की माँग की 
दिल्ली , ४ मार्च , २ ० १ ४ : कानपुर में विधायक इरफ़ान सोलंकी और उन के आदमियों ने वैद्यकीय महाविद्यालय के हॉस्टल के विद्यार्थी और अस्पतालों के डॉक्टर्स इन की बेरहमी से अचानक जाकर पिटाई की।  इस आतंकी जैसी गुंडागर्दी में कई डॉक्टर्स बुरी तरह से घायल हुए; एक डॉक्टर को इरफ़ान के गुंडों ने दूसरी मंज़िल से नीचे फेंक देने से उन की रीढ़ की हड्डी कायम स्वरुप में निकामी होकर वे जिंदगी भर के लिए विकलांग बना दिए गए है।  इस के बाद स्थानीय पोलिस भी वहाँ पहुंची और उन्होंने डॉक्टरों को फिर से बेरहमी से पीटा , इस सरकारी पिटाई में अनेक डॉक्टर्स गम्भीर घायल हुए हैं, कई डॉक्टरों को इरफ़ान के गुंडे उठाकर ले गए हैं और वे डॉक्टर्स अभी तक लापता हैं ; कई डॉक्टरों पर आतंक के मुकदमें डालकर पोलिस ने उन्हें जेल भेजा है।
Dr Pravin Togadia, VHP Chief

Dr Pravin Togadia, VHP Chief

इस बर्बर घटना की घोर निंदा करते हुए विश्व हिन्दू परिषद् के आंतर राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष , जाने माने कैंसर सर्जन और इंडिया हेल्थ लाईन के संस्थापक अध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया ने कहा , ” अनेक बार यह देखा गया है कि डॉक्टरों को राजनीतिक लोगों से ऐसे अनाचार अत्याचार सहने को मजबूर किया जा रहा है।  विधायक इरफ़ान सोलंकी और उन के लोगों ने कानपुर के मेडिकल कॉलेज में जाकर वहाँ जो आतंक फैलाया उस की हम निंदा करते हैं।  डॉक्टरों ने समाज की सेवा करने का बीड़ा उठाया होता है, इस का अगर कोई यह अर्थ निकाले कि डॉक्टरों को मारा पीटा जाए और वे फिर भी सेवा ही करते रहे, यह सरासर अन्याय है।  रोगियों को इलाज मिले इसलिए डॉक्टर्स रस्ते पर कैंप लगाकर सेवा देंगे लिकेन सरकारी और निजी अस्पतालों में काम बंद रखने के उन के निर्णय का हम समर्थन करते हैं – सहने की भी कोई मर्यादायें होती हैं।  विधायक और उन के गुंडों ने पोलिस के साथ मिलकर इतने जुल्म करने के बाद डॉक्टरों  पर आतंक के मुकदमे डालना यह तालिबानी शासन हुआ। हम डॉक्टरों के आंदोलन को लोकतांत्रिक समर्थन देते हैं। “
डॉ तोगड़िया ने माँग की : विधायक इरफ़ान सोलंकी को तुरंत गिरफ्तार किया जाय ; उन की विधायकी बर्खास्त हो ; घायल सभी डॉक्टरों को रु ७ लाख मुआवजा मिलें ; डॉक्टरों पर के सभी मुकदमें तुरंत वापस लेकर उत्तर प्रदेश सरकार उन की और देश के सभी डॉक्टरों की माफ़ी मांगें।  विधायक इरफ़ान की दो गाड़ियां मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल पर खड़ी  थी, उस का उन से जवाब माँगा जाय और उन पर आतंक के मुकदमे हो।  डॉ तोगड़िया ने आगे कहा : इस विषय में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन जो निर्णय करेगी इस के साथ देशभर के डॉक्टर्स डंटकर ख़ड़े रहेंगे ; उत्तर प्रदेश के डॉक्टरों को न्याय मिले और देश में अन्य कहीं भी किसी भी डॉक्टर या अन्य किसी भी प्रोफेशनल – वकील , सी ए , अध्यापक आदि – के साथ ऐसी बर्बरता ना हो इस हेतु हम इस आंदोलन का सक्रीय शांतिपूर्ण लोकतांत्रिक समर्थन करते हैं।