नई दिल्ली : अभूतपूर्व रही विशाल श्री राम-हनूमान जयंति शोभायात्रा

नई दिल्ली। अप्रेल 15, 2014। इन्द्रपस्थ विश्व हिन्दू परिषद् के तत्वावधान में हिन्दू पर्व समन्वय समिति, एवं दिल्ली की विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, शैक्षणिक संस्थाओं द्वारा हनुमान जयन्ति के पावन अवसर पर रामलीला मैदान से गंगेश्वर धाम, करोल बाग तक विशाल शोभायात्रा का आयोजन किया गया। इस श्रीराम-हनुमान जयंति शोभायात्रा में 100 से अधिक विभिन्न स्वरूपों की झांकियां एवं भजन मण्डलियां सम्मिलित थीं। सर्वप्रथम हनुमान ध्वज के साथ खुली जीप में विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी व प्रमुख संत भगवा साफा बांधे चल रहे थे। यात्रा के मुख्य डोले की सुरक्षा जहां नारी सशक्तिकरण की सुत्रधार दुर्गा वाहिनी की घुड सवार बहिनें कर रही थीं वहीं मोटरसाइकिल सवार बजरंग दल का जत्था यात्रा की अगुवाई कर रहा था। तत्पश्चात, श्रीराम धुन बजाते अनेक बैण्ड-बाजों के बीच विविध रूपों की सुन्दर झाँकियां चल रही थीं। अपने जीवन में पहली वार किसी राम-हनूमान शोभा यात्रा में सामिल होकर अपने आप को धन्य मानने वाले अनेक पाकिस्तान से आए पीडित हिन्दू भाव विभोर नजर आए और पूरे यात्रा मार्ग पर झूमते-गाते व नारे लगाते देखे गए।

20140415_164855

            शोभायात्रा का शुभारम्भ करते हुए विश्व हिन्दू परिषद् के अंतर्राष्ट्रीय संगठन महा मंत्री श्री दिनेश चंद्र ने कहा कि दैहिक दैविक भौतिक तापा। राम राज नहिं काहुहि ब्यापा।। हम अपेक्षा करते हैं कि भारत की सोलहवीं संसद कठिन से कठिन कार्य को सुगमता से पूर्ण करने वाले राम सेवक हनुमान जी की भूमिका में रह कर भारतीय श्रद्धा व सांस्कृतिक धरोहरों तथा हिन्दू मानविन्दुओं का संरक्षण-संवर्धन करते हुए देश के अन्दर और बाहर की हर कठिन से कठिन समस्या को सुलझाने में सक्षम होगी।

इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए विहिप के केन्द्रीय मंत्री डा सुरेन्द्र जैन ने कहा कि जिस प्रकार प्रभु श्री राम के हनुमान जी से मिलन के बाद ही राम राज्य की नींव रखी गई थी उसी प्रकार आज श्री राम व हनूमान जयंति की संयुक्त शोभा यात्रा एक साथ मंगलवार को निकाल कर यह संदेश दिया जा रहा है कि हनुमत शक्ति के माध्यम से भारत में राम राज्य की स्थापना को अब कोई नहीं रोक सकेगा।

पूज्य गोपाल मणि जी महाराज, सनातन धर्म प्रतिनिधि सभा के अध्यक्ष पूज्य स्वामी राघवानन्द ज़ी महाराज, हनुमान वाटिका के पूज्य महंत श्री रामकृष्ण दास महात्यागी, श्री विवेक शाह जी महाराज, महन्त नवल किशोर दास तथा हिन्दू पर्व समन्वय समिति के महा मंत्री श्री राम पाल सिंह यादव, संयुक्त महा मंत्री श्री विजय प्रकाश गुप्ता, व स्वागताध्यक्ष श्री पदम चंद गुप्त ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर विहिप के पूर्व अध्यक्ष श्री विष्णुहरि डालमियां, अन्तर्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री ओमप्रकाश सिंहल, प्रान्त अध्यक्ष श्री स्वदेशपाल गुप्ता, महामंत्री श्री राम कृष्ण श्रीवास्तव, सनातन धर्म प्रतिनिधि सभा के श्री मनोहरलाल कुमार, धर्मयात्रा महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री मांगेराम गर्ग, बजरंग दल दिल्ली के संयोजक श्री शिव कुमार, दुर्गा वाहिनी संयोजिका श्रीमती संजना चौधरी, समाज सेवी श्री रिखब चन्द जैन, जय नारायण खण्डेलवाल व हेमन्त प्रजापति सहित अनेक संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे।

समिति के प्रवक्ता श्री विनोद बंसल ने बताया कि आज की इस भव्य शोभायात्रा में सनातन धर्म  प्रतिनिधि सभा, दिल्ली संत महा मण्डल, आर्ट आफ़ लिविंग, सनातन संस्था, आर्य समाज, जैन समाज, बाल्मीकि समाज, रविदास समाज, बौद्ध समाज सहित विभिन्न मत-पंथ सम्प्रदायों व मन्दिरों की झांकियां विविधता में एकता के दर्शन करा रहीं थीं। यात्रा मार्ग में एक सौ स्वागत द्वार तथा 20 बडे मंचों पर दोपहर से ही धार्मिक – सांस्क्रतिक कार्यक्रमों की धूम थी। रामलीला मैदान से प्रारम्भ होने के पश्चात यात्रा का आसफ अली रोड, दरियागंज, चांदनी चौक, टाऊन हाल, खारी बावली, सदर बाजार, पहाडी धीरज, एम.एम. रोड, माडल बस्ती आदि क्षेत्रों में भव्य स्वागत हुआ। यात्रा दोपहर 4.30 बजे रामलीला मैदान से प्रारम्भ होकर रात्रि लगभग 9.00 बजे गंगेश्वर धाम, करोल बाग में पूज्य स्वामी आनंद भास्कर जी महाराज के आशीर्वचन के पश्चात सम्पन्न हुई।

Vishwa Samvada Kendra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Are you Human? Enter the value below *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

Bhumipoojan held for International Sri Krishana Kendra, the cultural heritage center in Kerala

Fri Apr 18 , 2014
Kodakkara Kochi: Bhoomi Pooja for International Sree Krishana Kendra (ISK) was performed on April 16 by His Holinees Jayendra Sarwswathy of Kanchi Kamakodi Peedam and the construction will start right after. The ISK is a re-creation of the age old concept of Vrindavana village, in central Kerala on the slopes […]