दिल्ली , ७ अप्रैल , २ ० १ ४: भाजपा द्वारा अपने घोषणा पत्र में हिंदुओं से जुड़े कुछ मुद्दों का उल्लेख करने पर विश्व हिन्दू परिषद् के आंतरराष्ट्रीयकार्याध्यक्ष डॉ प्रवीण तोगड़िया ने अपनी पहली प्रतिक्रिया व्यक्त की : “यह अच्छी बात है कि हिंदुओं के, विश्व हिन्दू परिषद्के और अन्य हिन्दू संघटनों के द्वारा लगातार मजबूती से माँग करने के कारण अब भाजपा के घोषणा पत्र में हिंदुओं से जुड़ेकुछ मुद्दों का उल्लेख आया है, जय कि भगवान् राम का मंदिर, धारा ३ ७ ० , समान नागरी क़ानून , काश्मीरी पंडित, गौमाताऔर गौवंश सुरक्षा आदि। इंडिया हेल्थ लाईन द्वारा हमने भारत में समस्या बने कुपोषण एवं एनीमिया (शरीर में खून कीकमी ) इस पर भी काम शुरू कर जोर दिया हुआ है। अब ये कुछ मुद्दे भाजपा के घोषणा पत्र में आये हैं। हिंदुओं की , विश्वहिन्दू परिषद् की एवं अन्य हिन्दू संघटनों की यह अपेक्षा है कि केवल घोषणा पत्र में सीमित न रहते हुए इन सभी मुद्दों परसमयबद्ध रीति से निश्चित कार्य हो ; जैसे कि , अयोध्या में राम मंदिर पर चर्चाएं आदि के लिए समय ना गँवाते हुए संसद मेंकानून पारित कर राम मंदिर निर्माण किया जाए ; धारा ३ ७ ० पर चर्चाएँ ना चलाकर यह धारा तुरंत हटाई जाए ; केवलअल्पसंख्य महिलाओं के कल्याण के लिए मर्यादित समान नागरी क़ानून ना लाते हुए समाज के सभी क्षेत्रों में समान नागरीक़ानून लागू हो ; काश्मीरी पंडितों का दीर्घ प्रलंबित पुनर्वसन सम्मान से और सम्पूर्ण सुरक्षा और आर्थिक सहयोग देकरदिसंबर २ ० १ ४ तक उन्ही स्थानों पर हो जिन स्थानों से काश्मीर से उन्हें क्रूरता से खदेड़ा गया था; गोवंश और गौमाताहत्या पर सम्पूर्ण प्रतिबन्ध लगाने का क़ानून संसद में तुरंत पारित हो तभी गोवंश विकास की बातों का कोई अर्थ होगा ;सभी जाति के और वनवासी गरीब हिन्दू बच्चों को / महिलाओं को / युवाओं को रोज़गार दिया जाय ; हिंदुओं की / हिन्दूमंदिरों / तीर्थ क्षेत्रों की सुरक्षा हेतु विशेष क़ानून बनाये जाएँ और जिहादी आतंकवाद रोकने के लिए निश्चित क़ानून पारितकिया जाए। ”

डॉ तोगड़िया ने आगे कहा : “इस घोषणा पत्र में आखिर हिंदुओं की कुछ माँगों का उल्लेख किया है ; उन सभी पर निश्चितसमयमें कार्य योजना और अम्मल हो, यह अब हिंदुओं की अपेक्षा रहेगी। अब हिंदुओं को जागृत रहना होगा ताकि सभीसांसद यह अपेक्षा पूर्ण करें। “