Tribute Shraddhaanjali to VHP Leader Aacharya Giriraj Kishore ji

VHP Trios: JUNE 28, 2004 - KOLKATA : Senior VHP leaders  (From left)  Acharya Giriraj Kishor, Ashok Singhal and Pravin Tagadia at VHP workers' meeting on the eve of VHP's National Convention in Kolkata.  PTI PHOTO

VHP Trios: File Photo JUNE 28, 2004 – KOLKATA : Senior VHP leaders (From left) Acharya Giriraj Kishor, Ashok Singhal and Pravin Tagadia at VHP workers’ meeting on the eve of VHP’s National Convention in Kolkata. PTI PHOTO

New Delhi July 14: Senior VHP Leader Aacharya Giriraj Kishore ji left this world on July 13, 2014 at 9.17pm. He was 96 & was suffering from a prolonged illness. He breathed his last at VHP Head Quarters in Delhi. He led Ram Mandir Movement from front. He was one of the senior most Pracharaks of RSS. Aacharya ji had donated his body for social cause. Fulfilling his long cherished dream of a grand Ram Temple at Ayodhya will be a perfect tribute to Aacharya ji. Pranaam to Aacharya ji.

–      Dr. Pravin Togadia, International Working President, VHP

विश्व हिन्दू परिषद के ज्येष्ठ नेता आचार्य गिरिराज किशोर जी का १ ३ जुलई  Raरात ९ .१ ७ को विहिंप के दिल्ली मुख्यालय में देहांत हुआ। वे ९ ६ वर्ष के थे और लम्बे समय से बीमार चल रहे थे । संघ के वरिष्ठतम प्रचारकों में से एक आचार्य जी विश्व हिन्दू परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री भी रहें। आचार्य जी ने राम मंदिर आंदोलन का नेतृत्व किया और जीवनभर हिन्दू हितों के लिए विचारधारा पर दृढ़ रहें। उन्होंने समाज के उपयोग हेतु देहदान का संकल्प किया था इसलिए उन का पार्थिव शरीर उस हेतु उन की इच्छा अनुरूप कल याने १ ४ जुलई, २ ० १ ४ को दान किया जाएगा। हिन्दुओं के इस श्रेष्ठ नेता को ह्रदय से प्रणाम और उन की भव्य राम मंदिर इच्छा पूर्ण हो ऐसी भगवान से प्रार्थना।

विश्व हिन्दू परिषद के ज्येष्ठ नेता आचार्य गिरिराज किशोर जी का १ ३ जुलई