Dr Pravin Togadia to inaugurate one such camp in Shiv Shakti temple Agrawal Dharm shala, Raigar pura Karol bagh in New Delhi on Sunday. In Dehi, For 10,000 units of blood will be collected at 38 Camps on November 2, 2014.

New Delhi October 21, 2014: As part of Golden Jubilee celebrations of Vishwa Hindu Parishad, Bajrang Dal is organizing Blood and eye donation camps across  Bharat. In different part of Delhi, 38 camps with a target of 10k units of blood will commence at 10 Am on 2nd November, 2014.

blood-donation-520x245

Briefing media the president of VHP Delhi shri Rikhab Chand Jain said that on this day, hundreds of Karasevaks put their blood for Ram Janm Bhoomi in Ayodhya and now lakhs of Bajrangis will donate it for the nation.  Bajrang dal celebrates this day of 1992 as Hutatma (martyrdom) day every year but, this time it may became the world’s first social organization who collects one lakh unit of blood in a one single day pan Bharat.

Detailing about the camps in the national capital, the state convener of Bajrang Dal shri Neeraj Doneria said that the 38 blood donation camps will work from 10Am to 4Pm in every corner of Delhi wherein not only 10k unit of blood will be collected but eye donation declaration forms would also be signed in more numbers to make andhmukt (Blind free) Delhi. This blood would be stored in almost every blood bank in Delhi so that needy could easily excess it at his own nearby place. We are committed to fulfill the wishes of the martyrs to build a glorious temple at birth place of lord Ram but simultaneously we would also ensure that no Hindu is died any more due to lack of blood in the country.

The international working president of Vishwa Hindu Parishad Dr. Praveen Bhai Togadia would inaugurate one such camp in Shiv Shakti temple Agrawal Dharm shala, Raigar pura Karol bagh in New Delhi on Sunday. The national chief of Bajrang dal shri Rajesh Pandey would also be their in many camps in Delhi. Social, religious, cultural, sports and art dignitaries are also expected to take part in the day long programs in Delhi.

नई दिल्ली। अक्टूबर 31, 2014। विश्व हिन्दू परिषद की स्वर्ण जयन्ति वर्ष के उपलक्ष्य में इसकी युवा शाखा बजरंग दल द्वारा रविवार दिनांक दो नवम्बर 2014 को दिल्ली के 38 स्थानों पर आयोजित किए जाने वाले रक्त दान व नेत्र दान शिविरों की तैयारी पूरी कर ली गई है। इस संदर्भ में आयोजित प्रेस वार्ता में बोलते हुए विहिप दिल्ली के अध्यक्ष श्री रिखव चन्द जैन ने कहा कि छ: नवम्बर 1992 को सैंकडों राम भक्त कार सेवकों ने श्री राम जन्म भूमि के लिए रक्त दिया था आज उन्हीं हुतात्माओं को याद करते हुए बजरंग दल ने समाज को रक्त दान का संकल्प लिया है। इस अवसर पर प्रान्त महा मंत्री श्री राम कृष्ण श्रीवास्तव ने कहा कि यूं तो हर वर्ष बजरंग दल इस दिन को हुतात्मा दिवस के रूप में मनाता ही है किन्तु इस वार वह एक ही दिन में देश भर में एक लाख यूनिट रक्त दान कराने वाला विश्व का शायद पहला सामाजिक संगठन बनेगा।

 दिल्ली में आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बजरंग दल के प्रान्त संयोजक श्री नीरज दोनेरिया ने बताया कि रविवार दिनांक दो नवम्बर को प्रात: 10 बजे से सायं चार बजे तक दिल्ली के 38 शिविरों के माध्यम से दस हजार यूनिट रक्त दान कराने का लक्ष्य है। इसे सभी जिला केन्द्रों में उपलब्ध स्थानीय ब्लड बैंकों में ही सुरक्षित किया जाएगा जिससे आवश्यकता पडने पर राजधानी के हर कोने पर रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित की जा सके और किसी भी हिन्दू को रक्त के लिए दूर न भागना पडे। इसी दौरान अंधमुक्त दिल्ली बनाने हेतु बडी संख्या में नेत्र दान के संकल्प पत्र भी भरवाए जाएंगे। उन्होंने यह भी कहा कि बजरंग दल का संकल्प है कि हुतात्माओं के श्री राम जन्म भूमि के अधूरे संकल्प को तो हम पूरा करेंगे ही साथ में देश के किसी भी हिन्दू को अब कम से कम रक्त के अभाव के कारण तो जान से हाथ नहीं धोने देंगे।

रविवार को प्रात: 11 बजे विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डा प्रवीण भाई तोगडिया दिल्ली के करोल बाग स्थित शिव शक्ति मन्दिर, अग्रवाल धर्मशाला, हर ध्यान सिंह रोड, रैगरपुरा में शिविरों का उद्घाटन करेंगे। बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक श्री राजेश पाण्डे भी दिल्ली के अनेक शिविरों में स्वयं उपस्थित रहेंगे तथा इनके अलावा विहिप-बजरंग दल सहित अनेक सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, क्रीडा व कला क्षेत्र की जानी मानी हस्तियां भी विविध शिविरों में रहेंगीं।