नई दिल्ली। जनवरी 11, 2014। बंग्लादेश व पाकिस्तान में बार-बार हो रहे हिन्दुओं के उत्पीडन के विरुद्ध विश्व हिन्दू परिषद दिल्ली के कृष्ण मुरारी जिले द्वारा प्रदर्शन कर भारत के उदासीन प्रधान मंत्री श्री मनमोहन सिंह का पुतला फ़ूँका। प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए विहिप दिल्ली के उपाध्यक्ष श्री अशोक कपूर ने कहा कि बांग्लादेश व पाकिस्तान में यूं तो अनेक वर्षों से हिन्दू उत्पीडन की घटनाएँ होती रही हैं किन्तु पिछले कुछ वर्षों में इनमें बेतहाशा वृद्धि हुई है। बंग्लादेश यात्रा से प्रधान मंत्री के लौटने पर उम्मीद की जा रही थी कि वहां रह रहे हिन्दुओं पर हमले तथा मन्दिरों इत्यादि को तोडे जाने की घटनाओं पर अंकुश लगेगा किन्तु ये घटनाएँ घटने के स्थान पर बढी हैं जो बेहद चिंतनीय है। उन्होंने मांग की कि भारत सरकार इस मामले को बांग्लादेश व पाकिस्तान के साथ राजनयिक स्तर पर उठा कर हिन्दुओं के जान माल की रक्षार्थ आगे आए।

19677017

 

दिल्ली के बी ब्लाक जहांगीर पुरी स्थित स्टेट बैंक चौक पर प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व करते हुए विहिप के जिला मंत्री श्री राम निवास अत्री व बजरंग दल संयोजक श्री जसवीर सिंह चौहान ने कहा कि पाकिस्तान से जान बचा कर भारत लौटे हिन्दुओं की दयनीय हालात पर अनेक बार देश व दिल्ली की सरकारों को गुहार लगाई जा चुकी है किन्तु किसी के कान पर जूं तक नहीं रेंगती है और वे दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं जबकि माननीय उच्च न्यायालय ने भी उन सभी को नागरिक सुविधाएँ देने के निर्देश दिए थे। प्रदर्शनकारियों में आकाश गुप्ता, अश्विनी श्रीवास्तव, हरिओम साहू, जगत मेहता, गुलशन गोस्वामी, सुरेन्द्र विरमानी व भागीरथ ठाकुर भी शामिल थे।

विहिप ने दिया पाक पीडित हिन्दुओं को जरूरी सामान:

विहिप दिल्ली के उपाध्यक्ष श्री महावीर प्रसाद के नेतृत्व में गए एक प्रतिनिधि मण्डल ने आज पाकिस्तान से आए हिन्दुओं को दक्षिण पश्चिम दिल्ली स्थित बिजवासन में घर गृहस्थी का जरूरी सामान, गरम कपडे तथा राशन का सामान दिया जिससे वे अपना गुजारा कर सकें। उनके साथ भारत विकास परिषद, लाल साँई मन्दिर जनक पुरी के पदाधिकारियों के अलावा प्रसिद्ध समाज सेवी श्री ईश चड्ढा, श्री राम धन, सुमित व विहिप दिल्ली के संरक्षक चौधरी राम किशन सहित अनेक सामाजिक कार्यकर्ता उपस्थित थे। विहिप दिल्ली के मीडिया प्रमुख श्री विनोद बंसल ने बताया कि सामग्री में वहाँ रह रहे सभी  परिवारों को खाना पकाने हेतु सत्ताईस सैट गैस के चूल्हे, सिलेण्डर इत्यादि, इतने ही सैट बर्तनों के जो एक परिवार की आवश्यकता होती है, भयंकर शीत से बचाने हेतु गरम कपडे तथा राशन का सामान दिया गया। सभी ने एक स्वर से मांग की कि दिल्ली सरकार इस सभी पीडित भरत वंसियों को अविलम्ब नागरिक सुविधाएं प्रदान करे जिससे ये पाकिस्तान में झेली अपनी पीडा व प्रताडनाओं को भूल अपना नया जीवन प्रारम्भ कर सकें और अपने बच्चों को शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा, रोटी, कपडा व मकान प्रदान कर सकें।