New Delhi, February 272015: On the occasion of its Golden Jubilee celebrations, Vishwa Hindu Parishad, organised Virat Hindu Sammelan on Sunday, March 01, 2015, at Jawaharlal Nehru Stadium New Delhi.

Virat Hindu Sammelan New Delhi March-1-2015

Virat Hindu Sammelan New Delhi March-1-2015

 

Sammelan to have representation of all walks of life and many national & international prestigious dignitaries will address the august gathering. Top saints, spiritual gurus and highest body of VHP will be seen on the dais.

Jagadguru Shankaracharya Swami Vasudevanand Saraswati ji Maharaj, Mahamandaleshwar Swami Satyamitranand Giri ji Maharaj, Gita Manishi Swami Gyananand ji Maharaj, Pujya Sant Tarun Sagar ji Maharaj, Buddhist Saint Lama Tyogdan Rimpoche ji Maharaj from Ladakh, Shri Sudhanshu Ji Maharaj from Vishwajagriti Mission along with Joint General secretary-RSS, Suresh Soni, VHP veteran Ashok Singhal, President Raghav Reddy, working president Dr. Pravin  Togadia, vice president Rajmata Chandrakanta ji, Organising Gen sec, Dinesh Chandra, Dr. Subramanian Swami and the national convener of Bajrang Dal shri Rajesh Pandey, may address the gathering.

The program would begin with hoisting of flag and worshiping cow by eminent Saints, social workers and top VHP leaders. Renowned poet Gajendra Solanki will grace the occasion with his patriotic poems and Baba Satya Narayan Maurya will conduct Bharat Mata Aarti in his great musical manner. Sanskrit Bharati, Art of Living, Indo-Tibetan Friendship Society, Suruchi Prakashan and Saksham, will put their stalls and exhibitions. Delegates may pledge to donate their eye, blood and body organs through Dadhichi Deh Dan Samittee. Cow devotees will be able to directly connect with the issues and programmes related to cow brands and other related products to the real service of cow. The exhibition of Hindu Helpline and India Health-line will explain how these two are getting vital to the hindu society for up-liftment of poor & needy in the country.

Participants of the Sammelan will have privilege to watch many exhibitions and stalls apart from getting inspired to donate eye, blood and body organs at the same place.

The whole compound area has been divided into ten zones named after great national heros. It will have a capacity to accommodate around one lakh people. For swift and smooth reach of the vehicles to the venue, six types of parking & traffic stickers have been distributed according to the geographic location of the national capital region. As per the reports pouring in thousands of delegates are coming across the boarders of Delhi. Residents of Bahadurgarh, Sonepat, Faridabad, Ghaziabad & Noida may also witness the large gathering, he added.

नई दिल्ली फ़रवरी 27, 2015. अपनी स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में विश्व हिन्दू परिषद दिल्ली आगामी रविवार (एक मार्च) को दिल्ली में शायद इतिहास बनाने की तैयारी में है। जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित किए जाने वाले विराट हिन्दू सम्मेलन की अब तक की तैयारियों और दिल्ली भर में लगातार चल रही बैठकों से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि यह सम्मेलन अनेक दृष्टियों से अनुपम होगा। कार्यक्रम के संयोजक श्री गुरदीन प्रसाद रुस्तगी ने कहा है की एक ओर जहां हिन्दू धर्म के सभी मत-पंथ-संप्रदायों का प्रतिनिधित्व होगा तो वहीं विविध क्षेत्रों की राष्ट्रीय प्रतिभाओं के दर्शन भी एक ही स्थान पर हो सकेंगे। सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रतिनिधि न सिर्फ़ देखेंगे व सुनेंगे बल्कि नेत्रदान, रक्त दान तथा अंग दान का संकल्प भी ले सकेंगे।

विस्तृत जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के प्रवक्ता श्री विनोद बंसल ने बताया कि प्रसिद्ध समाज सेवी महाशय धर्म पाल आर्य ध्वज-आरोहण करेंगे तथा पूज्य विशिष्ठ संतों के साथ विहिप के वरिष्ठ पदाधिकारी साक्षात गऊ पूजन व दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे। गजेन्द्र सोलंकी जैसे वरिष्ठ कवि का कविता पाठ होगा तो वहीं अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त बाबा सत्य नारायण मौर्य द्वारा भारत माता की अनुपम आरती की जाएगी। कार्यक्रम स्थल पर एक ओर हिन्दू हेल्प लाइन तथा इण्डिया हेल्थ लाइन द्वारा देश भर में दी जा रहीं अनुपम सेवाओं कि जानकारी प्रदर्शनी में होगी तो वहीं दूसरी ओर गऊ ब्राण्ड तथा अन्य उत्पादों के माध्यम से गऊ भक्त गऊ माता की वास्तविक सेवा के कार्यक्रमों से सीधे जुड सकेंगे। एक ओर जहां संस्कृत भारती, आर्ट ऑफ़ लिविंग, भारत तिब्बत मैत्री संघ, सुरुचि प्रकाशन व सक्षम जैसे संगठनों की प्रदर्शनी व स्टाल होगी, वहीं दूसरी ओर दधीचि देह दान समिति के माध्यम से लोग अपना नेत्र दान, रक्त दान तथा देह दान का संकल्प लेंगे।

व्यवस्था की दृष्टि से पूरे मैदान को महा पुरुषों के नाम पर दस भागों में विभक्त कर लगभग एक लाख लोगों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है। सैंकड़ों वाहनों के स्टेडियम तक सुगम प्रवेश हेतु उनके लिए छह तरह के विशेष स्टीकर दिए गए हैं जो दिल्ली के भौगोलिक आधार पर तय किए गए हैं। दिल्ली के अलावा, राजधानी से सटे हरियाणा के बहादुर गढ, सोनीपत तथा फ़रीदाबाद एवं उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद व नोएडा से भी हजारों लोगों के पहुंचने की खबरें मिल रही हैं।

हिन्दू हम सब एक का भाव लिए सम्मेलन को जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी वासुदेवानन्द सरस्वती जी महाराज, महा मण्डलेश्वर स्वामी सत्यमित्रानन्द गिरी जी महाराज, गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानन्द जी महाराज, पूज्य संत तरुण सागर जी महाराज, लद्दाख से पधार रहे बौद्ध लामा तोग्दन रिंम्पोछे जी तथा विश्व जागृति मिशन के संस्थापक श्री सुधांषु जी महाराज, के अलावा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री सुरेश सोनी, विहिप संरक्षक श्री अशोक सिंघल, अंतर्राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राघव रेड्डी, कार्याध्यक्ष डॉ प्रवीण भाई तोगड़िया, उपाध्यक्ष राजमाता चंद्रकांता, संगठन महामंत्री श्री दिनेश चंद्र के अलावा वरिष्ठ सांसद डॉ सुब्रह्मण्यम स्वामी तथा बजरंग दल के राष्ट्रीय संयोजक श्री राजेश पांडे सहित अनेक वक्ता संबोधित करेंगे।