RSS Sarakaryavah Bhaiyyaji Joshi’s appeal to countrymen, to donate for Nepal Earthquake Relief Fund

New Delhi April 28-2015: RSS Sarakaryavah Suresh Bhaiyyaji Joshi appealed today to donate for Nepal Earthquake Relief fund, headed by RSS inspired NGO’s Rashtriya Seva Bharati and Seva International.

RSS Sah Sarakaryavah Dattatreya Hosabale is in Nepal, visited earthquake affected zones of Nepal. He met RSS Swayamsevaks there, who is involved in rescue operations. 

Details related Flood relief fund has been given below.

RSS Sah Sarakaryavah Dattatreya Hosabale at visited earthquake affected zones of Nepal.
RSS Sah Sarakaryavah Dattatreya Hosabale at visited earthquake affected zones of Nepal.

RSS Press Release Page-1

RSS Press Release Page-2

नई दिल्ली April 28-2015. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह सुरेश भय्या जी जोशी ने स्वयंसेवकों तथा देशवासियों  से भूकंप प्रभावितों की सहायता के लिये खड़े होने का आह्वान किया. जिससे प्रभावित बंधुओं को त्वरित मदद पहुंचाई जा सके. उन्होंने आपदा प्रभावितों के प्रति संवेदना भी प्रकट की.

उन्होंने कहा कि 25 अप्रैल को नेपाल तथा भारत के कुछ भागों में आये विनाशकारी भूकम्प के कारण सारे विश्व में एक शोक की लहर दौड़ गई है. प्रकृति की इस विनाशलीला से सभी स्तब्ध एवं दुःखी हैं. संपूर्ण नेपाल में भारी जनहानि और सम्पत्ति का जो व्यापक नुकसान हुआ है, वह अकल्पनीय है. नेपाल में हजारों लोगों की मृत्यु हो चुकी है, हजारों घायल हैं तथा लाखों बेघर हुए हैं. भारत में भी बिहार, प. बंगाल, उत्तर प्रदेश, सिक्किम आदि स्थानों पर  व्यापक जनधन हानि के समाचार मिले हैं. ऐसी कठिन परिस्थिति में हम सभी भारतवासियों का यह स्वाभाविक कर्तव्य एवं दायित्व बन जाता है कि अपने निकटतम पड़ोसी एवं चिरआत्मीय नेपाल के बन्धुओं की सहायता हेतु शीघ्रातिशीघ्र खड़े हों.

हम सभी के लिए कुछ सन्तोष की बात है कि भारत सरकार ने नेपाल पर आई इस विपत्ति को अपनी विपत्ति मानकर कुछ घण्टों के अन्दर ही सहायता सामग्री से भरे भारतीय विमानों को नेपाल के अन्दर पहुंचा दिया और सभी प्रकार की आवश्यक सहायता भारत सरकार वहां पहुंचाने का प्रयत्न भी निरन्तर कर रही है.

किन्तु, भूकम्प की विनाशलीला भी बहुत व्यापक है, अतः हम सभी भारतवासियों का कर्तव्य बन जाता है कि संकट की इस घड़ी में एकजुट होकर नेपाल की सभी दृष्टि से सहायता हेतु आगे आएं, साथ ही भूकम्प प्रभावित भारतीय क्षेत्रों को भी तुरन्त सहायता पहुंचाएं.

इसके लिये सभी कार्यकर्ता बन्धु अपने-अपने प्रान्तों में किसी एक पंजीकृत संस्था द्वारा भूकम्प पीड़ितों की सहायता के लिए धन संग्रह प्रारम्भ कर सकते हैं. ‘राष्ट्रीय सेवा भारती दिल्ली’ तथा ‘सेवा इण्टरनेशनल’ के माध्यम से यह सामग्री और सहायता (धनराशि) नेपाल भेजी जाएगी.

विश्वास है कि सभी संवेदनशील देशवासी इस कार्य में तत्परता से जुट जाएंगे और स्थान-स्थान पर सभी संगठनों के कार्यकर्ता भी इसमें यथा सामर्थ्य सहयोग, सहायता अवश्य करेंगे. सुविधा के लिये सहायता भेजने हेतू संस्थाओं की जानकारी भी दी जा रही है.

चेक, ड्राफ्ट – राष्ट्रीय सेवा भारती-आपदा पीड़ित सहायता कोष

Rashtriya Seva Bharatai- Aapada Peedith Sahayata Kosh

State Bank of India, Jhandewala Branch, New Delhi Account Number 34895627803

भारतीय स्टेट बैंक झंडेवाला शाखा, नई दिल्ली , खाता संख्या – 34895627803,

I.F.S.C. कोड ‐  SBIN0009371

F.C.R.A. No.  ‐  33014624179

Swift Code   ‐  SBININBB453

सम्पर्क सूत्र :

ऋषिपाल डडवाल जी, महामन्त्री,   राष्ट्रीय सेवा भारती  दिल्ली,  09311156329, 09818976734

चेक, ड्राफ्ट – सेवा इंटरनेशनल

भारतीय स्टेट बैंक झंडेवाला एक्सटेंशन, नई दिल्ली

खाता संख्या  ‐  10080533304

I.F.S.C. कोड  ‐  SBIN0009371

शाखा कोड ‐  9371,     Swift Code ‐  SBININBB550

सम्पर्क सूत्र : श्याम पराण्डे जी,  महामन्त्री,   सेवा इण्टरनेशल,  09811392777

नोट – ‘सेवा इण्टरनेशल’ तथा ‘राष्ट्रीय सेवा भारती’ आयकर धारा 80जी के अन्तर्गत आयकर में छूट के लिए पंजीकृत है.

Vishwa Samvada Kendra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Are you Human? Enter the value below *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Next Post

'Education not just to earn, but to perform one's Dharma': RSS Sarasanghachlak Mohan Bhagwat at Bengaluru

Thu Apr 30 , 2015
Bengaluru April 30, 2015: ‘For a person, the Education is not a path for earning his bread, it is to make a person Vishwambhar, a person who performs and protects the values in Dharma throughout his life. This should be the purpose of education. ‘ said RSS Sarasanghachalak Mohan Bhagwat in […]