Kanpur July 11, 2016: RSS Akhil Bharatiya Prachar Pramukh Dr Manmohan Vaidya addressed a Press Conference today at Kanpur prior to the Pranth Pracharak Varg followed by Pranth Pracharak Baitak to be held at LavaKush Nagar, Bitoor near Kanpur, Uttar Pradesh.

(Dr Manmohan Vaidya along with Mohan Agarwal, Kanpur Pranth Prachar Pramukh) 

RSS Sarasanghachalak Mohan Bhagwat, Sarakaryavah Suresh Bhaiyyaji Joshi, other all national office bearers of RSS to participate in this major meet.

Details of Press Briefing is given below. 

कानपुर, 11 जुलाई । पिछले छह सालों से संघ का कार्य क्षेत्र लगातार बढ़ रहा है। यह तभी संभव हो पाया जब लोगों का संघ के प्रति विश्वास बढ़ा। जिससे अब इसकी शाखाएं 57 हजार के करीब जा पहंुची। यह कहना है राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैद्य का। इसके साथ ही उन्होंने जाकिर नाईक के बयान पर भी इशारों-इशारों में आपत्ति जता दी।

लवकुश नगरी बिठूर में इन दिनों राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की प्रांत प्रचारकों की बैठक चल रही है। जिसमें सर संघचालक मोहन भागवत भी भाग ले रहें है। पिछले दो दिनों से मीडिया में चल रही खबरों को देखते हुए सोमवार को संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैद्य ने प्रेस वार्ता कर कहा कि यह बैठक प्रांत प्रचारकों की है। जो हर पांच वर्ष में होती है। उन्होंने कहा कि मैं देख रहा हूॅं कि पिछले पांच दिनों से संघ की बैठक को मीडिया भाजपा से जोड़कर देख रहा है। जो गलत है यह बैठक संघ की है इसमें भाजपा को कोई लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि पांच सालों में जो कार्यकर्ता नया आता है उसे बताया जाता कि प्रांत प्रचारक का दायित्व क्या है। सामाजिक सरोकार व बौद्धिक की चर्चा के साथ आगामी प्रवासों के विषय में मंथन किया जाता है। इसके साथ ही संघ के प्रचार-प्रसार पर भी चर्चा होती है। संघ चुनाव की दृष्टि से कतई नहीं बैठक कर रहा है। उन्होंने बताया कि 2010 के बाद संघ के प्रति लोगों का लगातार विश्वास बढ़ता जा रहा है। जिससे आज संघ की शाखाएं 57 हजार पार कर गई हैं। जो 2010 में 45 हजार के करीब थीं।

ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचेगा संघ

डा. मनमोहन वैद्य ने कहा कि संघ के प्रति लोगों का झुकाव इस बात का प्रमाण है कि जो बातें संघ के विषय में कही जाती है वह गलत है। उन्होंने कहा कि संघ की कोशिश है कि गांव-गांव तक इसकी विचारधारा पहुंचे और लोगों की धारणा को बदला जाय।

जाकिर के बयान गलत

प्रेस वार्ता में जब मीडिया ने डा. मनमोहन वैद्य से सवाल किया कि संघ जाकिर नाइक के बयानों को किस तरह से देखता है। तो उन्होंने पहले तो बचने की कोशिश की लेकिन बाद मीडिया से उल्टा सवाल कर कहा कि आपकी इसकी क्या राय है जो आप लोगों की व आम जनता की राय है। उससे संघ अलग नहीं है जो गलत है उसे गलत ही कहा जाएगा।